शान्तिपुरी – आंगनबाड़ी केंद्र के लिए भूमिका निरीक्षण करने पहुंची तहसील की टीम को ग्रामीणों का विरोध का सामना करना पड़ा जिसके बाद अधिकारियों तक मामले की सूचना पहुची और टीम बैरंग ही लौटना पडा। बुधवार की दोपहर को किच्छा तहसील से पटवारी हंस फाउंडेशन द्वारा बनाये जा रहे आगनबाड़ी केंद्र के लिए भूमि का निरीक्षण करने स्वतंत्रा सेनानी ग्राम जवाहरनगर पहुची थी। इस दौरान जैसे ही ही टीम मैदान में आंगनबाड़ी केंद्र के लिए भवन बनाने के लिए भूमि का निरीक्षण करने पहुची तो आसपास के ग्रामीणों ने विरोध करना शुरू कर दिया। हंगामा बढ़ता देख मामले की सूचना उच्चाधिकारियों तक पहुची तो टीम को वापस बुला लिया गया।
इस दौरान ग्रामीणों ने बताया कि 50 वर्ष पूर्व खेल मैदान को पूरन लाल वर्मा ने बच्चों को खेल मैदान मूहय्या कराने के लिये जमीन दान की थी। मगर पिछले कुछ दिनों से आगनबाड़ी केंद्र की संचालिका गीता शर्मा पटवारी तनुजा बोरा के साथ यहाँ आकर मैदान के बीचोबीच सरकारी भूमि निकाल कर उसमें हंस फाउंडेशन के माध्यम से आंगनबाड़ी केंद्र बनाने का प्रयाश कर रही हैं जिसका ग्रामीणों द्वारा विरोध किया गया। उन्होंने बताया कि मामले को लेकर वह जल्द ही जिलाधिकारी से मुलाकात कर ग्रामीणों की और से एक ज्ञापन भी दिया जाएगा। विरोध करने वालो में पूरन लाल वर्मा, धीरज वर्मा, पूरन सिंह वर्मा, प्रकाश सिंह बिष्ट, दिग्विजय खात्ति, लालमन शर्मा, राहुल अधिकारी, गौरव अग्रवाल, शुभम, कैलाश वर्मा के साथ कई अन्य ग्रामीण मौजूद रहे।
किच्छा तहसीलदार ने बताया कि उन्हें भी सूचना मिली थी कि भूमि के निरक्षण के दौरान टीम का विरोध हुआ था। टीम को तत्काल वापस बुला कर अन्यत्र जगह जमीन तलाशी जाएगी।
यह भी पढ़ें :  एसएसपी ने 6 निरीक्षकों सहित दो उप निरीक्षकों के किये तबादले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here