खटीमा/सितारगंज – धान क्रय सत्र के पहले दिन जिलाधिकारी रंजना राजगुरु ने खटीमा ओर सितारगंज की मंडियों का ओचक निरीक्षण किया। खटीमा मंडी में उन्होंने धान की नमी को चैक करते हुए मंडी सचिव को आवश्यक दिशानिर्देश दिए तो वही सितारगंज मंडी में तोल ना होने पर उन्होंने सम्बन्धित अधिकारी की फटकार लगाते हुए तत्काल तोल कार्य शुरू कराया गया। इस दौरान उन्होने किसानोें से बात करते हुये धान क्रय केन्द्रों के सम्बन्ध में विस्तृत जारकारी ली। किसानों द्वारा बताया गया कि किसानों को धान के लिये चबूतरा पर्याप्त नही हो पा रहा है।
जिस पर जिलाधिकारी ने मंडी सचिव को निर्देश दिये कि मंडी में आये किसानों को तत्काल चबूतरा उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने कहा कि किसान अपनी तौल का स्वंय भी ध्यान रखें ताकि उनको किसी प्रकार का नुकसान न हो। उन्होने धान क्रय केन्द्रों पर धान की नमी की जांच करते हुए सम्बन्धित अधिकारियो को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि शासन द्वारा जो मानक निर्धारित किये गये है उस आधार पर नमी का आंकलन करते हुए किसानों को काॅमन धान का मूल्य रू0-1940 प्रति कुन्तल एवं ए ग्रेड धान का मूल्य रू0-1960 प्रति कुन्तल निर्धारित किया गया है। जिलाधिकारी ने मंडी सचिव को निर्देश देते हुए कहा कि किसानों को सही जानकारी दें व सरकार द्वारा निर्धारित नियमों का अनुपालन करें अगर किसी भी तरह की शिकायत प्राप्त हुई तो सम्बन्धित अधिकारी/कर्मचारी के विरूद्ध निलंबित करने की कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।
उन्होने किसानों को आश्वस्त किया कि धान खरीद में पूरी पारदर्शिता बरती जायेगी। जिलाधिकारी ने किसानों से धान क्रय केन्द्रों में तौल आदि व्यवस्थाओं की भी जानकारी ली व किसानों से बात करते हुए कहा कि किसानों को तौल में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी की आशंका अथवा कोई समस्याय होती है तो किसान तौल केन्द्र के सूचना पट पर अंकित अधिकारियों के मोबाईल नम्बर पर अथवा सम्बन्धित उपजिलाधिकारी से तत्काल शिकायत कर सकते है। उन्होने सभी केन्द्र प्रभारियों को निर्देश दिये कि जिस समय धान की नमी मापी जाती है उसी समय किसानों को धान की स्थिति के बारे में अवगत कराया जाए। उन्होने मंडी सचिव व धान क्रय केन्द्र प्रभारियों को कड़े निर्देश दिये कि यदि धान क्रय केन्द्रों में धान से सम्बन्धित कोई भी शिकायत प्राप्त होती है तो सम्बन्धित के खिलाफ कठोर से कठोर कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। उन्होने मंडी सचिव को निर्देश दिये कि किसानो के धान सुखाने की व्यवस्था दुरूस्त रखें। इस दौरान अपर जिलाधिकारी जय भारत सिंह, आरएफसी कुमाऊ हरवीर सिंह, उपजिलाधिकारी तुषार सैनी, एडीओ मंडी विनोद कुमार सहित किसान आदि उपस्थित रहे।
यह भी पढ़ें :  थाना ट्रांजिट कैंप क्षेत्र में युवती से दुष्कर्म, दो आरोपियो के खिलाफ मुकदमा दर्ज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here