खटीमा – तराई पूर्वी वन प्रभाग के किलपुरी रेंज के पूर्व रेंजर आशीष मोहन तिवारी के खिलाफ घटना को छिपाने के मामले में चार लाख की डिमांड करने के मामले में एसडीओ शिवराज चंद की तहरीर पर थाना खटीमा में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। अभियोग पंजीकृत करने के बाद पुलिस मामले की जाच में जुट गई है। पुलिस को सौपी तहरीर में कहा गया है कि 18 अगस्त को दो ऑडियो रिकर्डिग जो 17.55 मिनट एंव 5.53 मिनट की है सोशल मीडिया मे वायरल हुई थी , जिसमे दो पक्षो के मद्य वार्तालाप सुनाई दे रही है । प्राथमिक रूप से विभागीय जाँच किये जाने पर उक्त दोनो पक्षों मे से एक पक्ष की आवाज आशीष मोहन तिवारी ,तत्कालीन वन क्षेत्राधिकारी किलपुरा की होना प्रकाश मे आया है एंव दूसरा पक्ष जिसे राना नाम से सम्बोधित करते हुए अवैध कटे प्रकाष्ठ को छुपाने एंव विभागीय कार्यवाही नही करने के एंवज मे चार लाख की मांग की जा रही है। मामले में आशीष मोहन तिवारी तत्कालीन वन क्षेत्राधिकारी किलपुरा द्वारा अवैध रूप से धन लेनदेन एंव उत्तराखण्ड कर्मचारी/अधिकारी आचरण नियमावली के विरूद्ध कृत्य किये जाने पर उनको तत्काल प्रभाव से प्रमुख वन संरक्षक (HOFF) उत्तराखण्ड देहरादून के कार्यालय वनादेश सं0-03/1-15(HRD0 दिनांक 19 अगस्त 2021 से निलम्बित कर प्रभागीय कार्यालय से सम्बद्ध किया गया है।

यह भी पढ़ें :  चम्पावत के एसपी बने घायलों के लिए देव दूत, अपने वाहन से पहुचाया अस्पताल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here