रुद्रपुर/नैनीताल – पिछले 48 घण्टो से अश्मान से आफत बरस रही है। पहाड़ से लेकर मैदानी इलाकों में हाहाकार मचा हुआ है। आलम ये है कि नदी नाले उफान पर बने हुए है। जलाशयों का जल स्तर बढ़ने लगा है। नैनीताल का जिला का पानी सड़क व मन्दिर परिषर तक पहुचने लगा है। गौला नदी के साथ साथ सभी नदी नाले उफान में चल रहे है। 1993 के बाद अब गौला नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। रुद्रपुर में बहने वाली कल्याणी नदी भी रौद्र रूप धारण किये हुए है। जिसकारण लोगो के घरों में तक पानी घुस चुका है। आलम ये है कि कल्याणी नदी से सटे तमाम स्थानों में मकान आधे डूब चुके है। हालांकि इससे पूर्व जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन ने लोगो से अपील करते हुए अपने घरों को छोड़ते हुए सुरक्षित स्थान में जाने की अपील की गई थी। लेकिन लोग घर छोड़ कर निकलने को तैयार नही हुए। रात भर लोगो बारिश में छतों में रहने को मजबूर हुए थे।

सीओ सिटी रुद्रपुर अमित कुमार ने बताया कि कल देर सायं से सुबह तक जगह जगह रेस्क्यू कार्य किया जा रहा है। एनडीआरएफ की टीम को भी रेस्क्यू कार्य मे लगाया गया है। अब तक एक हजार से अधिक लोगो को कल्याणी नदी के किनारों से रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों में भेजा गया है।
यह भी पढ़ें :  लखीमपुर खीरी की घटना को बताया दुर्भाग्यपूर्ण, SSP डीएस कुँवर ने किसानों से की अपील, पूर्व की भांति करे सहयोग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here