रुद्रपुर – नगर निगम रूद्रपुर अब कूड़े का निस्तारण कर अपनी आमदनी बढ़ाने जा रहा है। इस मामले में नगर निगम और पूणे की कम्पनी के बीच करार भी हो चूका है। जल्द ही रुद्रपुर के फाजलपुर महरौला में कूड़े से सीएनजी गैस तैयार करने वाले हाईटैक सीबीजी प्लांट बन कर तैयार होने जा रहा है। आज मेयर रामपाल सिंह एवं नगर आयुक्त रिंकू बिष्ट ने संयुक्त रुप विधिवत भूमि पूजन किया। लगभग 37500 किग्रा प्रतिदिन जैविक गीले कूड़े के निस्तारण हेतु नगर निगम रूद्रपुर के कूड़ा विधायन संयत्रा के लिए आवंटित भूमि पर उत्तराखण्ड  राज्य का यह पहला बायो मीथेनेशन प्लांट (सीबीजी) होगा । भूमि पूजन के साथ ही पुणे की मैलहम कम्पनी ने इस आधुनिक प्लांट को लगाने का काम शुरू कर दिया है।

      रुद्रपुर वाशियो ओर राहगीरो के लिए मुशीबत बन चुके कूड़े के पहाड़ का निस्तारण के लिए प्रदेश का पहला प्लांट रुद्रपुर में लगने जा रहा है। जिससे सीएनजी गैस बनाने की तैयारी की जा रही है। मेयर रामपाल ने आज विधिवत रूप से इस प्लांट का भूमि पूजन किया गया। गौरतलब है कि नगर निगम ने कचरा निस्तारण हेतु जैविक कचरा उपचार संयंत्र लगाने के लिए पुणे की मैलहेम इकोस एनवायरमेंट कंपनी के साथ पिछले दिनों एमओयू साइन किया था। जिसे अब धरातल पर उतारा जा रहा है। मेयर रामपाल ने बताया कि महानगर में अब कचरा समस्या नहीं, बल्कि वरदान साबित होगा। सीबीजी प्लांट लगने के बाद कचरा नगर निगम के लिए आय का स्रोत बनेगा। शहर के कचरे को रीसाइकिल करके नगर निगम सीबीजी प्लांट में सीएनजी गैस तैयार करेगा। उन्होंने दावा किया है कि यह बायोगैस का प्लांट उत्तराखंड और उत्तर भारत का पहला बड़ा प्रोजेक्ट है । जीरो इंवेस्टमेंट में रेवन्यू आफ द गवर्नमेंट के आधार पर यह प्लांट काम करेगा। जिसमें तीन रुपये प्रति मीट्रिक टन की दर से 24000 रुपये प्रति माह के हिसाब से नगर निगम को कंपनी द्वारा भुगतान किया जाएगा। प्लाट को बनाने के लिए संस्था द्वारा 8 से 10 करोड़ रुपये लगाए जाएंगे। जिसमे नगर निगम को एक भी पैसा नही लगाना पड़ेगा। प्लांट को डीएफबीओटी माॅडल पर स्थापित किया जा रहा है जिसमें नगर निगम रूद्रपुर द्वारा किसी भी प्रकार की धनराशि का व्यय नहीं किया जाना है। उक्त प्लांट 25 वर्षों के पश्चात पूर्ण रूप से नगर निगम रूद्रपुर को हस्तांतरित कर दिया जायेगा। इसके अतिरिक्त अनुबंधित फर्म द्वारा नगर निगम को 1 रूपये प्रति वर्ग मीटर प्रतिमाह की दर से छह एकड़ भूमि की राॅयलटी दी जायेगी। साथ ही उक्त फर्म द्वारा नगर निगम को गीले कूड़े को क्रय कर 3 रुपये प्रति मीट्रिक टन की दर से भुगतान किया जायेगा। मेयर ने कहा कि नगर निगम रुद्रपुर के वाहनों को गैस की आपूर्ति करने के साथ ही इसे बेच कर मुनाफा भी कमाया जायेेगा । मेयर ने कहा कि संभवतः जून या जुलाई माह तक इस प्लांट में गैस का उत्पादन शुरू हो जायेगा।
यह भी पढ़ें :  गुलदार की खाल के साथ वन्यजीव तस्कर गिरफ्तार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here