Sunday, May 22, 2022
No menu items!
spot_img
Homeअपराधगला रेत कर कर दी दोस्त ने हत्या, पुलिस ने चार आरोपियों...

गला रेत कर कर दी दोस्त ने हत्या, पुलिस ने चार आरोपियों को किया गिरफ्तार

लडकी बनी हत्या का कारण, दोस्त ने दोस्त की ले ली जान, पंजाब के दो बदमाश सहित चार गिरफ्तार

रुद्रपुर

खटीमा के जंगल में धार दार हथियार से हुई आरिफ की हत्या के मामले में कोतवाली पुलिस ने महज 12 घंटे में हत्या का खुलासा करते हुए चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। एसएसपी मंजू नाथ टीसी ने हत्या का खुलासा करते हुए बताया की हत्या का मास्टरमाइंड और कोई नही मृतक आरिफ का दोस्त था। दोनो अक्सर शाम को खाने पीने के लिए जंगल जाया करते थे। दरअसल हत्या की मुख्य वजह एक लडकी बताई जा रही है। जिसको लेकर दोनो दोस्तो के बीच बहस भी होती रहती थी। जिस कारण आरोपी आजाद निवासी ग्राम जमौर थाना खटीमा उससे रंजिश रखने लगा था। कुछ दिन पूर्व उसकी मुलाकात सुखविन्दर सिंह उर्फ सुख्खा निवासी ग्राम हल्दी, थाना खटीमा से हुई दोनो के बीच लड़की को लेकर भी बातचीत हुई इस दौरान आरोपी आजाद ने आरिफ को ठिकाने लगाने की बात कही तो सुखविंदर ने बताया की उसके घर में पंजाब के दो बदमाश शरण लिए हुए है। जो आरिफ को ठिकाने लगाने में मदद कर सकते है। 1 मई की शाम आरोपी आजाद, सुखविंदर पंजाब के दो बदमाश आशीष सिंह और विजय सिंह आरिफ के पास पहुंचे और उसकी बाइक में बैठ कर सैफन पुल के पास जंगल में बैठ कर शराब पीने लगे। इस दौरान सभी ने पहले खूब शराब पी और उसके बाद चारो ने मिल कर आरिफ का गला तेज धारदार हथियार से रेत कर मौत के घाट उतार दिया और शव को जंगल में फेक दिया। मामले में मृतक के भाई की तहरीर पर पुलिस ने मुकदाम दर्ज कर जांच शुरू की तो पुलिस ने शक के आधार पर आजाद को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया। सख्ती से पूछताछ में आजाद टूट गया। उसने अपने अन्य साथियों के साथ आरिफ की हत्या करना कबूल किया। जिसके बाद पुलिस ने अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों की निशानदेही पर तेज धारदार हथियार, खून से लथपथ आरोपियों के कपड़े और मृतक की बाइक भी बरामद कर ली है। आज चारो आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।
पंजाब के बदमाश को पहले ही कोतवाली में बैठा चुकी थी पुलिस
एसएसपी मंजू नाथ टीसी ने खुलासे के दौरान बताया की पुलिस सत्यापन के दौरान पंजाब के दोनो बदमाश पुलिस को संदिग्ध लगे थे। जिस कारण दोनो बदमाशो को पुलिस थाने में पूछताछ के लिए बैठा चुकी थी। जैसे ही आरोपी आजाद ने हत्या में सामिल पंजाब के बदमाशो का नाम लिए वैसे ही दोनो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने कहा अगर उन्हें पूछताछ के लिए थाने में नही बैठाया होता तो आज दोनो ही बदमाश पुलिस की गिरफ्त से बाहर होते।
यह भी पढ़ें :  उत्तराखंड में फिर सियासी भूचाल, कैबिनेट की बैठक छोड़ निकले मंत्री हरक सिंह रावत,दे सकते है मंत्री पद से इस्तीफा
- Advertisement -
Google search engine
News Shikharhttp://newsshikhar.com
तेजी से बढ़ता हुआ उत्तररखण्ड का न्यूज़ पोर्टल
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments