रुद्रपुर – विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस की गुटबाज़ी सामने आने लगी है। कुछ कार्यकर्ता पर्यवेक्षक स्थानीय कार्यकर्ताओ को ही आगामी विधानसभा चुनाव में टिकट देने की माग को लेकर धरने पर बैठ गए।दरअसल मिशन 2022 को लेकर कार्यकर्ताओ का मन टटोलने के लिए कांग्रेस केंद्रीय नेतृत्व द्वारा राजस्थान के कैबि पर्यवेक्षक के समक्ष नेट मंत्री राजेन्द्र यादव को नैनीताल संसदीय सीट की जिमेवारी पर्यवेक्षक के रूप में दी गयी है। आज वह रुद्रपुर पहुचे जहा पर उन्होंने विधासभा वार देवेदारो के बायोडाटा लेकर उनसे चर्चा की गई। लेकिन चर्चा के दौरान किच्छा विधानसभा के कार्यकर्ताओं ने पर्यवेक्षक के समक्ष स्थानीय कार्यकर्ता को टिकट देने की बात रखी। जिसको लेकर हंगामा शुरू हो गया। जिसके बाद प्रदेश महामंत्री हरीश पनेरू,पूर्व जिला अध्यक्ष नारायण सिंह बिष्ट, प्रदेश प्रवक्ता गणेश उपाध्याय सहित 7 कार्यकर्ता मंच के समीप धरने पर बैठ गए। गौरतलब है कि पूर्व मंत्री तिलक राज़ बहेड रुद्रपुर छोड़ किच्छा विधानसभा से टिकट की दावेदारी कर रहे है और वह लंबे समय से किच्छा विधानसभा में सक्रिय भी है। पत्रकार वार्ता के दौरान पर्यवेक्षक राजेन्द्र यादव ने कहा कि आज वह विधानसभा के देवेदारो के बायोडेटा लिए जा रहे है। जिसके बाद जो नाम सामने आएंगे उन नामो का सर्वे किया जाएगा। जिसके बाद केंद्रीय नेतृत्व द्वारा टिकटों की घोषणा की जाएगी। उन्होंने कार्यकर्ताओ की नाराजगी पर बोलते हुए कहा कि यह परिवार का मामला है किच्छा विधानसभा का नम्बर आने पर उनकी बातों को सुना जाएगा। यूपी में 40 फीसदी महिलाओ को टिकट देने पर बोलते हुए कहा कि सभी राज्यो में केंद्रीय नेतृत्व एक जैसा ही नियम लागू करेगी ।

यह भी पढ़ें :  गैर महिलाओ से सम्बन्ध ना रखने की बात पर पति ने पत्नी को दिया तीन तलाक, मुकदमा दर्ज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here