रुद्रपुर – सिडकुल स्थित सीटीईपी प्लांट में जहरीली गैस से बेहोश होकर डूबने से प्लांट हेड सहित 3 कर्मचारियों की मौत हो गई घटना की सूचना पर पुलिस प्रशासन फायर ब्रिगेड और एसडीआरएफ की टीम ने संयुक्त रूप से रेस्क्यू कार्य चलाते हुए तीनों शवों को गड्ढे से बाहर निकाला जबकि एक श्रमिक को बेहोशी की हालत में अस्पताल में भर्ती किया गया। दरअसल आज प्लांट में खराबी आने के कारण पहले एक श्रमिक गड्ढे में मोटर को ठीक करने के लिए उतरा था।

लेकिन शोर होने पर खुद प्लांट हेड भी गड्ढे पर उतर गए जब कुछ देर बाद भी कोई हलचल महसूस नहीं हुई तो तीसरा कर्मचारी भी गड्ढे में उतर गया तीनों कर्मचारियों को देखने के लिए जब चौथे कर्मचारी को गड्ढे में उतारा गया तो वह बेहोश हो गया जिसे कर्मचारियों की मदद से बाहर निकाल कर अस्पताल ले जाया गया जहां पर उसका इलाज चल रहा है आनन-फानन मैं घटना की सूचना पुलिस प्रशासन को दी गई मौके पर पहुंची पुलिस टीम अग्निशमन टीम और एसडीआरएफ की टीम ने संयुक्त रूप से रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया लगभग 2 से ढाई घंटे बाद गड्ढे से तीनों शवों को बाहर निकाला गया। गौरतलब है कि सीटीईटी प्लांट में सिडकुल की फैक्ट्रियों का गंदा पानी को साफ किया जाता है।

यह भी पढ़ें :  स्पा सेंटर की आड़ में चल रहा जिस्म फ़रोसी का धंधा, एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल द्वारा की गई कार्यवाही

सीईओ आशीष भारद्वाज ने बताया की सूचना मिली थी कि एक गड्ढे में घुसकर 3 लोगों की मौत हो गई है जिसके बाद टीम मौके पर पहुंची और रेस्क्यू अभियान चलाया। रेस्क्यू अभियान में टीम को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा कुछ जहरीली गैसों को पानी के छिड़काव से हटाया गया जिसके बाद डेढ़ से 2 घंटे रेस्क्यू ऑपरेशन कर तीनों शवों को बाहर निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here