पत्नी की हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहा था मुजरिम
2017 में सितारगंज खुली जेल से फरार हुआ था मुजरिम
खटीमा – 2017 से सितारगंज जेल फरार अजीव कारावास का मुजरिम व 10 हजार का इनामी को एसओजी की टीम ने 4 साल बाद गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। एसएसपी दलीप सिंह कुँवर द्वारा मामले में प्रेस वार्ता कर बताया कि प्रदेश में पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर इनामी ओर वांछित अपराधियों की धरपकड़ की जा रही है। जनपद में भी थानों ओर तमाम टीमो का गठन कर इनामी ओर वांछित अपराधियों की धरपकड़ की जा रही थी। इसी कड़ी में एसओजी उधम सिंह नगर द्वारा मुखबिर की सूचना पर हमराही कर्मचारीगण की मदद से वह सर्विलेंस के माध्यम से सुराग रस्सी पता रस्सी करते हुए *₹10000 घोषित इनामी अपराधी सुशील विश्वास उर्फ सुशील सिंह निवासी वैकुंडपुर नंबर 01 बारह फैमिली शक्तिफार्म सितारगंज उधम सिंह नगर संबंधित मुकदमा अपराध संख्या 156/2017, धारा 223/224 ipc को बहजाई नगर थाना चाखन पुणे महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया । उपरोक्त इनामी अपराधी द्वारा 2005 में अपनी पत्नी सरस्वती विश्वास की डालीरेंज लालकुआं के जंगल में कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी थी।  जिसमें थाना लालकुआं में मुकदमा अपराध संख्या 1306/2005, धारा 302 ipc, बनाम सुशील विश्वास पंजीकृत किया गया था, उक्त प्रकरण में वर्ष 2005 में नैनीताल ADJ कोर्ट से आजीवन कारावास की सजा हुई। वर्ष 2016 में इनामी अभियुक्त सुशील विश्वास को खुली जेल सितारगंज में स्थानांतरित किया गया था ,जहां से वर्ष 2017 में भाग गया था। जिस पर थाना सितारगंज  में मुकदमा अपराध संख्या 156/2017, धारा 223/224 ipc पंजीकृत किया गया इनामी अपराधी भागकर दिल्ली से पुणे महाराष्ट्र गया, जहां वह मयूर एंटरप्राइज फैक्ट्री में नौकरी कर रहा था, फैक्ट्री के पास ही झोपड़ी डालकर रह रहा था उक्त इनामी अपराधी को एसओजी उधम सिंह नगर की टीम द्वारा गिरफ्तार किया गया जिसे सड़क मार्ग द्वारा थाना सितारगंज उधम सिंह नगर उत्तराखंड लाकर दाखिल किया गया।
यह भी पढ़ें :  दवा लेकर घर आ रहे दम्पत्ति को कार ने मारी टक्कर, मौत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here