देहरादून – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज प्रदेश की 18 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस दौरान एक जन सभा को सम्बोधित भी किया। जिसमे ढेड़ लाख से भी अधिक लोग पहुचे थे। इस दौरान उन्होंने गढ़वाली भाषा मे अपना सम्बोधन शुरू करते हुए सभी को प्रणाम किया। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड पूरे देश की आस्था ही नही बल्कि कर्म ओर कठोरता की भूमि है। इस लिए इस क्षेत्र की विकास की डबल इंजन की सरकार की प्राथमिकता रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र द्वारा एक लाख करोड़ से अधिक की परियोजनाओं की स्वीकृति दी है। आज 18 हजार करोड़ की 18 योजनाओ का लोकार्पण व शिलान्यास किया गया है। उन्होंने कहा जो लोग पूछते है कि डबल इंजन की सरकार का फायदा क्या है वो लोग देख सकते है कि क़िस तरह से उत्तराखंड का विकास हो रहा है। पूर्व सरकारों ने 10 सालो में घोटाले हुए है। इसकी भरपाई के लिए केंद्र सरकार दोगुना गति से काम कर रही है। उन्होंने कहा कि 21 वी शादी के काल खंड में कनेक्टविटी के लिए एक ऐसा महा यज्ञ चल रहा है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में आधुनिक इंफर्टाकचर तैयार किये जा रहे है। चार धाम की कनेटिविटी के लिए आल वेदर रोड का कार्य किया जा रहा है। बेहतर कनेक्टिविटी और सुविधाओं से लेश करने के बाद श्रद्धालुओ की संख्या में इजाफा हुआ है। कोरोना काल से पहले 10 लाख श्रदालुओ ने दर्शन किये है। उन्होंने कहा कि आज दिल्ली देहरादून कॉरिडोर का शिलान्यास हुआ है। इससे दिल्ली और देहरादून का समय लगभग आधा हो जाएगा। हरिद्वार रिंग रोड के अस्तिस्त्व में आते ही हरिद्वार शहर को जाम मुक्त हो जाएगा। लक्ष्मण झूला के समीप एक ओर पुल का निर्माण किया जाएगा। पहाड़ो के लोगो के रहने वाले लोगो का जीवन सुगम बनाना केंद्र की सरकार की प्राथमिता है। लेकिन दशकों तक शासन करने वाली सरकार ने सिर्फ लोगो को छला है। उन्होंने कहा कि हमारे लिए उत्तराखंड तप और तपस्या का मार्ग है। साल 2007 से 2014 के बीच पूर्व की केंद्र की सरकार ने 7 साल में सिर्फ 288 किलोमीटर नेशनल हाइवे बनाये थे। जिसमे उनके द्वारा 6 सौ करोड़ रुपये खर्च किये। जबकि हमारी सरकार ने 7 साल में 2 हजार से अधिक नेशनल हाइवे बनाये है। जिसमे 12 हजार करोड़ की धनराशी व्यय की गई है। उन्होंने कहा कि ये सिर्फ एक आंकड़ा भर नही है। उन्होंने कहा कि जब इस तरह के काम होते है तो क़ई वस्तुओं की आवश्यकता होती है। वो भी स्थानीय लोगो को तलाशते है। उन्होंने कहा कि इस तरह के प्रोजेक्ट से हजारो लोगो को रोजगार मिला है। उन्होंने कहा कि पाँच साल पूर्व उन्होंने कहा था कि उत्तराखंड का पानी और जवानी उत्तराखंड के काम ही आएगी। सीमावर्ती क्षेत्रों में केंद्र की सरकार लगातार काम कर रही है। उन्होंने कहा कि आज जो सरकार है वो किसी के दबाव में नही आ सकती है। उन्होंने कहा कि एक समय था कि पहाड़ के लोग मुख्य धारा से जोड़ने के लिए सपने देखते रहते थे। लेकिन कुछ करने का जंनु हो तो सूरत भी बदलती है और सीरत भी बदलती है। इसको पूरा करने के लिए सरकार लगातार काम कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार अब सीधे लोगो के पास जाती है। जल जीवन मिशन से हर घर मे पानी पहुच रहा है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि तीन और नए मेडिकल कालेज स्वीकृत किये गए है। टीकाकरण के मामले में उत्तराखंड अग्रणीय राज्यो में सामिल है। उन्होंने सरकार को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि समय के साथ राजनीति में क़ई विकृति आ गयी है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने जो रास्ता चुना है वो कठिन है जो रास्ता चुना है वह देश के साथ साथ लोगो के लिए है सबका साथ सबका विकास। उन्होंने कहा कि जो मुसीबतें आपको विरासत में मिली है वो मुसीबत और विरासत अपने बच्चो को दे कर जाए। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार विरासत नही बल्कि आत्म निर्भर बना रहे है। उन्होंने कहा कि देश भर में उजाला योजना शुरू की इसी लिए देश भर में करोड़ो रूपये एलईडीई बल्ब वितरित किये गए। जिसकारण लोगो का बिजली का बिल कम हुआ है। उन्होंने कहा कि गावो को भी अत्याधुनिक बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आने वाले पाँच साल उत्तराखंड को रजतजयन्ति की ओर ले जाने वाले है उन्होंने कहा कि आपके पास धामी जैसे युवा नेता है पूरी टीम है जो उत्तराखंड को आगे ले जाएंगे। उन्होंने कहा जो लोग देश से बिखर रहे है वो उत्तराखंड का विकास नही कर सकते है।

यह भी पढ़ें :  पहाड़ो को हो रही थी अवैध शराब की खेप सप्लाई, टीम ने ऐसे दबोचा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here