ढेड़ माह पूर्व दहेज ना देने पर ससुरालियों द्वारा निकाल दिया था घर से 
रुद्रपुर – गोद मे 11 दिन का मासूम बच्चा लिए कोतवाली के बाहर कुर्सी में बैठी महिला अपने पिता के साथ ससुरालियों पर कार्रवाई के लिए 24 जुलाई से थाने के चक्कर काट रही है। लेकिन पीड़ित महिला को कोई पुलिस कर्मी सुनने को तैयार नही। मामला जिला मुख्यालय स्थित कोतवाली रुद्रपुर का है। जहाँ पर एक महिला अपने 11 दिन के बच्चे के साथ इस आस में बैठी है कि मित्र पुलिस उसका पक्ष सुन कर आगे की कार्रवाई करेगी। लेकिन खाकी तो खाकी है इतने आसानी से कहा सुनने वाली। महिला 24 जुलाई को भी गुहार लेकर कोतवाली आयी। सुबह से दोपहर तक बैठी रही लेकिन नतीजा शून्य। एक बार फिर आज वह अपने 11 दिन के बच्चे और पिता के साथ कोतवाली पहुची। लेकिन आज भी ढाक के तीन पात। जब मीडिया कर्मियों द्वारा मामले कि जानकारी लेनी चाही तो तब पुलिस हरकत में आई और उसकी आप बीती सुनी। दरअसल धौलपुर रुद्रपुर निवासी कुंवरपाल अपनी बेटी व 11 दिन के नाती के साथ रुद्रपुर कोतवाली पहुचा। उसने बताया कि केसरपुर निवासी युवक से उसने अपनी बेटी की शादी 3 वर्ष पूर्व की थी। शादी के बाद से ही उसके ससुराल वाले बेटी को प्रताड़ित करने लगे। बेटी के गर्भवती होने के बाद जब वह सात माह के गर्भ से थी तो उसे घर से निकाल दिया। उसने 11 दिन पहले बेटी को जन्म दिया। बेटी को जन्म देने के बाद उसके ससुराल वाले उसके घर आये और जबरन नवजात नाती को लेकर जाने लगे। आरोप है की उनके द्वारा उन्हें रोकने का प्रयास किया गया तो वह मारपीट में उतारू हो गए। शोरशराबा होने पर आसपास के लोग एकत्रित हो गए। जिसके बाद वह उन्हें धमकी देते हुए भाग गए। 24 जुलाई से वह लगातार कार्यवाही को लेकर कोतवाली के चक्कर लगा रहे है लेकिन कोई भी सुनवाई नही हो रही है।
सीओ सिटी अमित कुमार ने कोतवाली पुलिस को अग्रिम कार्रवाई के निर्देश दिए है। उन्होंने बताया कि महिला के ससुराल पक्ष के लोगो ओर पति को बुला कर काउंसलिंग कराई जाएगी।
यह भी पढ़ें :  25 लाख की अवैध चरस के साथ दो युवक गिरफ्तार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here