देहरादून – उत्तराखण्ड में साम्प्रदायिक सौहार्द के बिगड़ने की संभावना को लेकर प्रदेश सरकार द्वारा रासुका लगाई गई है। दरअसल सरकार को सूचना मिल रही थी कि चुनाव से पहले प्रदेश में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश हो सकती है। इसके अलावा हाल ही में प्रदेश के क़ई स्थानों में इस तरह की घटनाएं भी प्रकाश में आई थी। हालांकि स्थानीय प्रशासन द्वारा मामले में मोर्चा संभालते हुए माहौल खराब होने से पहले ही समस्या को हल कर दिया था। इसके अलावा सरकार को भी क़ई सारे इनपुट प्राप्त हुए थे। जिसके बाद शासन द्वारा आज जनपद के सभी जिलाधिकारियों को 1 अक्टूबर से 31 दिसम्बर तक उक्त अधिनियम की धारा 3 की उपधारा (2) द्वारा प्राप्त शक्तियों का प्रयोग करने के लिए सशक्त करते है।

रासुका में ख्याल रखनी होगी ये बाते

 
रासुका लगने के बाद आप सब को सोशल मीडिया या अन्य माध्यम से साम्प्रदायिक सौहार्द खर्राब करने वाले मेसेजों को अनदेखा करना होगा। जिस किसी मैसेज से  सामाजिक वातवरण बिगड़ सकता है उसे ना ही फॉरवर्ड करे और ना ही अपलोड किया जाय। 

यह भी पढ़ें :  प्रोफेसरो के खाते से उड़ाए 9 लाख, जाच में जुटी पुलिस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here