Sunday, May 22, 2022
No menu items!
spot_img
Homeकुमाऊँमेहंदी रचाने वाला वीरू कैसे बन गया टेटू मास्टर, महीने के कमा...

मेहंदी रचाने वाला वीरू कैसे बन गया टेटू मास्टर, महीने के कमा रहा इतने

नवीं पास वीरू अपना रोजगार कर हर माह कमा रहा 70 हजार

रुद्रपुर – प्रतिभा परिचय की मोहताज नहीं होती और रंपुरा निवासी नवीं पास वीरु ने साबित करके दिखाया है। कभी रामलीला स्टेज के बाहर महिलाओं और युवतियों के हाथों में मेहंदी लगाकर जीवन यापन करने वाला वीरु ने टेटू से नई पहचान बनाई है। इससे वह हर माह 70 हजार रुपये का कारोबार कर रहा है।

रंपुरा के शिवमंदिर 84 घंटा निवासी वीरू छह भाई बहनों में तीसरे नंबर का है। उसके पिता मजदूरी करते थे। वीरू को बचपन से कलाकारी का शौक था। वह अपने पिता के साथ रामलीला स्टेज के बाहर दुकान लगाकर लोगों के हाथों में मेहंदी लगाता था। वीरू ने बताया कि वह अपना कारोबार करने की सोच लेकर दिल्ली में टेटू बनाने का काम सिखने के लिए चला गया। छह माह उसने एक दुकान में टेटू बनाने का काम सीखा। इसके बाद वह रुद्रपुर लौट आया। भगतसिंह चौक के पास उसने आठ हजार रुपये किराए पर दुकान खोली और टेटू बनाने का काम शुरू कर दिया। उसके बनाए टेटू लोगों को पसंद आने लगे तो दुकान में भीड़ जुटने लगी। वह हर प्रकार के टेटू बना सकता है। रुद्रपुर के अलावा गदरपुर, किच्छा, सितारगंज, दिनेशपुर व हल्द्वानी से लोग उसके पास टेटू बनाने के लिए आता है। वह एक हजार रुपये से लेकर वह 10 हजार रुपये तक के टेटू बनाता है। प्रत्येक माह 70 हजार रुपये का कारोबार कर अपने परिवार को आर्थिक रुप से मदद कर रहा है।

यह भी पढ़ें :  लिफ्ट दे कर युवक की नीयत फिसली, बीच रास्ते मे बाइक रोक कर की छेड़छाड़, मुकदमा दर्ज
- Advertisement -
Google search engine
News Shikharhttp://newsshikhar.com
तेजी से बढ़ता हुआ उत्तररखण्ड का न्यूज़ पोर्टल
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments