दिल्ली – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 10 अगस्त को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उत्तर प्रदेश के महोबा में एलपीजी कनेक्शन सौंपकर उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण (प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना – पीएमयूवाई) का शुभारंभ करेंगे। इस कार्यक्रम के दौरान, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों से बातचीत करेंगे और राष्ट्र को संबोधित भी करेंगे। इससे पूर्व वर्ष 2016 में उज्वला योजना 1 में 8 करोड़ एलपीजी कनेक्शन का लक्ष्य रखा गया था। लेकिन लक्ष्य को निर्धारित समय से 7 माह पूर्व कर लिया गया था।
वित्तीय वर्ष 21-22 के केन्द्रीय बजट में पीएमयूवाई योजना के तहत एक करोड़ अतिरिक्त एलपीजी कनेक्शन के प्रावधान की घोषणा की गई थी। इन एक करोड़ अतिरिक्त पीएमयूवाई कनेक्शन (उज्ज्वला 2.0 के तहत) का उद्देश्य कम आय वाले उन परिवारों को जमा-मुक्त एलपीजी कनेक्शन प्रदान करना है, जिन्हें पीएमयूवाई के पहले चरण के तहत शामिल नहीं किया जा सका था। उज्ज्वला 2.0 के तहत लाभार्थियों को जमा मुक्त एलपीजी कनेक्शन के साथ – साथ पहला रिफिल और हॉटप्लेट निःशुल्क प्रदान किया जायेगा। साथ ही, इसमें नामांकन की प्रक्रिया के लिए न्यूनतम कागजी कार्रवाई की जरूरत होगी। उज्ज्वला 2.0 में प्रवासियों को राशन कार्ड या निवास प्रमाण – पत्र जमा करने की जरूरत नहीं होगी। ‘पारिवारिक घोषणा’ और ‘निवास  प्रमाण’, दोनों, के लिए स्वयं द्वारा एक घोषणा पर्याप्त है। उज्ज्वला 2.0 एलपीजी तक सभी की पहुंच के प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण को साकार करने में मदद करेगी।इस अवसर पर केन्द्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री भी मौजूद रहेंगे।

यह भी पढ़ें :  छात्रों के अपहरण की सूचना पर इधर से उधर भटकती रही पुलिस, दिनभर में छाने क़ई सीसीटीवी कैमरे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here